E-Commerce Kya Hai and How its Work.

E-Commerce Kya Hai
E-Commerce Kya Hai

दोस्तो E-Commerce Kya Hai के बारे मे जाने के लिए आप इस पोस्ट को पढे। जहा पर आपको E-Commerce Kya Hai, और उसे जुड़ी जानकारी दी जाएगी।

दोस्तो अपने भले ही E – Commerce के बारे मे न सुना हो । पर अपने कभी न कभी इस E – Commerce service को यूस जरूर किया होगा। वो कैसे तो आइए जानते है।

दोस्तो अपने कभी न कभी किसी भी product या किसी भी सर्विस को जरूर online खरीदा होगा। या आपका कोई ऑनलाइन स्टोर है। तो अपने अपने प्रॉडक्ट को बेचा भी होगा। तो दोस्तो इस बेचने और खरीदने की प्रक्रिया को ही E – Commerce कहा जाता है। जहा आप किसी भी product को online खरीदते है। और बेचते हो ।

दोस्तो आज कल की जेनेरेशन बहुत अडवांस है। यह जेनेरेशन आज कल वो सब चीज को यूस कर रही है। जो trend पर है। लेकिन यह जेनेरेशन किसी भी चीज को यूस करती है। पर उसके बारे मे सही से जाने की कोसिस नहीं करती है। इसी तरह हर कोई इस जेनेरेशन मे E – Commerce सर्विस को यूस कर रहा है। पर उसके बारे मे सही से जनता नहीं है।

तो आइए जानते है। E-Commerce Kya Hai से जुड़ी सारी जानकारी के बारे मे।

E-Commerce Kya Hai

जब आप किसी भी product या service को ऑनलाइन बेचते है या खरीदते है। तो उस लेनदेन की प्रक्रिया को E – Commerce कहा जाता है।

दोस्तो इसमे होता यह है। की कोई भी company अपना ऑनलाइन business सुरू करती है। और किसी भी product या service को बेचती है। जैसे मन लो की कोई कपड़ो का online store है। जहा सभी लोंग आकार अपने पसंद के समान को ऑनलाइन चुनते है। और पैसे भी ऑनलाइन देते है। तो इसे हम E – Commerce service कह सकते है। जिसे E – Business भी कहा जाता है।

E-Commerce Kya Hai
E-Commerce Kya Hai

जो company अपने product को online store बना कर बेचती है। उसे हम E – Commerce Store कहते है। जैसे की Amazon , Flipkart , Snapdeal आदि ।

यहा पर कोई भी व्यक्ति अपना खुद का स्टोर open कर सकता है। और इस service का हिसा बन सकता है। ऑनलाइन स्टोर को open करने के कई फायदे होते है। यहा पर आप अपने business को बड़ा सकते है।

 E – Commerce की सुरुवात कब हुई

दोस्तो E – Commerce की सुरुवात 1979 मे एमichal Aldrich ने की थी। उन्होने एक छोटे से प्रयोग के माध्यम से इस service की सुरुवात की थी। और इसी से ऑनलाइन बिज़नस की सुरुवात हुई थी।

फिर 1994 मे Jeff Bezos ने पहली E – Commerce website की सुरुवात की और उनकी पहली E – Commerce वैबसाइट थी Amazon।

Amazon ने पहले अपने पहले साल मे ही 10 लाख किताबों को ऑनलाइन बेचा था। जो की बहुत ही बड़ी बात थी। उसके बाद जब सभी लोंगों के पास कम्प्युटर हो गए तो। तो कई और कंपनी ने अपना ऑनलाइन बिज़नस को सुरू किया । पर सुरू मे किसी भी product को खरीदने के बाद उसके payment करने का कोई साधन नहीं था। तब सब लोंग check का इस्तमल करते थे। payment के लिए।

उसके बाद 1998 मे paypal की सुरुवात हो गई । जिसने पेमेंट को लेने और देने का नज़रिया ही बादल दिया। जिसकी मदद से लोंग बिना check के ही payment करना सीख गए थे।

भारत मे E – Commerce की सबसे पहले सुरुवात इंडियन रेल्वे ने की थी जिसे हम IRCTC के नाम से भी जानते है। इसी साइट ने train ticket बूकिंग के माध्यम से E – Commerce की सुरुवात की थी। क्योकि इसे पहले लोंग लाइन लगाकर रेल के ticket को लेते थे। लेकिन ऑनलाइन ticket बूकिंग के आ जाने से लोंगों का लाइन लगाना कम हो गया था।

इसके बाद कई और कंपनी जैसे Airlines,Flipkart , जैसी कई और कंपनी ने इसकी सुरुवात कर दी। और E – Commerce site को बड़ा दिया।

E – Commerce कितने प्रकार के होते है

E – Commerce कई प्रकार के होते है

  1. Business to consumer – इसमे होता ये है की कोई भी company अपने consumer को समान बेचता है। यहा पर कोई limitation नहीं होती consumer चाहे तो वह यहा से केवल एक ही product को भी खरीद सकता है। और यह product कंपनी अपने consumer को घर पर ला कर देगी।
  2. Business to Business – यहा पर होता यह है की कंपनी की एक requairment होती है, आपको उसी हिसाब से समान को लेना पड़ेगा। आप 1 या 2 product को यहा से नहीं खरीद सकते है।
  3. Consumer to Consumer – यहा पर होता यह है की केवल consumer ही दूसरे consumer को समान बेच सकता है। यहा पर किसी कंपनी का कोई काम नहीं होता है।
E – Commerce website क्या है

दोस्तो अपने E – Commerce के बारे मे जान लिया । E – Commerce के प्रकार भी जान लिए अब आप ये जानो को E – Commerce वैबसाइट होती क्या है। इसमे होता क्या है।

तो दोस्तो आपको बता दु की E – Commerce वैबसाइट ऐसी वैबसाइट है। जहा पर आप किसी भी product या किसी भी प्रकार की service को बेच सकते है। यहा पर किसी भी प्रकार की कोई limitation नहीं होती की आपको यही product को बेचना है । आप किसी भी product को बेच सकते है। अगर आप चाहे तो आप lifestyle के product बेच सकते है। चाहे तो आप कपड़ो की sale कर सकते है। यहा पर आप अपनी वैबसाइट को बना कर कुछ भी बेच सकते है।

इन E – Commerce वैबसाइट मे अब आपको payment के भी कई मौके दिये जा रहे है। आप चाहे तो अपने product को घर पर मांगकर पैसे दे सकते है। जिसे आप COD (cash on delivery) भी कहते है। इसके अलाव अब कई और भी मेथेड़ हो गए है। payment करने के ।

Popular E – Commerce website कौन सी है

दोस्तो ऐसे तो कई सारी वैबसाइट आज कल खुल गई है ऑनलाइन पर उन सब मे से जो सबसे अछि और popular E – Commerce website है वो है

  • Amazon – Amazon की सुरुवात Jeff Bezos ने की थी। और यह पहली E – Commerce website भी है। इसके अलावा Amazon दुनिया की top 10 website मे से एक है।
  • FlipKart – Flipkart एक इंडियन company है। और इसकी सुरुवात Binny bansal और sachin Bansal ने की थी। यह वैबसाइट इंडिया की 10 वैबसाइट मे से एक है।
  • SnapDeal – यह भी एक पोपुलर वैबसाइट है। और इसके CEO Kunal Bhal है।
E – Commerce के platform

E – Commerce के platform उनको कहा जाता है। जो आपकी website की बनाने मे आपकी मदद करते है। इसमे होता यह है की आपको बस इनको पैसे देने होते है। उसके बाद यह आपको आपकी पसंद की वैबसाइट design करके दे देते है। इसके लिए यह ज्यादा चार्ज भी नहीं करते है। बस आपको कुछ ही पैसे मे अछि वैबसाइट बना कर दे देते है। जो देखने मे बहुत ही अछि लगती है। कुछ लोंग अपने आप ही वैबसाइट को डिज़ाइन करते है। पर जिनको नहीं आता उनके लिए यह कंपनी बहुत अछि साबित होती है।

आपको मै कुछ platform के बारे मे बात देता हु।

  • Shopify
  • WooCommerce
  • BigCommerce
  • Megneto

यह चार ऐसी कंपनी है जहा पर आप अपने हिसाब से अपनी website को design करा सकते हो।

E – Commerce के फायदे

दोस्तो E – Commerce से बहुत फायदे होते है आइए जानते है।

दुनिया भर की Audience – दोस्तो आपको तो पता ही है, की आज कल सभी के पास फोन है, और सभी को बहुत ही अछे से चलना भी आता है। तो इसे आपको फाइदा ये होगा की अगर आप अपने ब्रांड को ऊपर तक ले जाते हो मतलब आप अपने ब्रांड को पोपुलर करते हो तो आपको पूरी दुनिया की Audience का Support मेलेगा।

समान चुने का अधिकार – दोस्तो आपको तो पता है की अब कितने सारे store open हो गए है। तो इसे फाइदा ये मिलता है की आपको हर जगह पर समान चुने का अधिकार मिलता है।

कम रुपेय – दोस्तो आपको तो पता है की जब काही पर जब बहुत ज्यादा समान हो जाता है तो लोंग उस समान को कम दाम पर ही निकाल देते है। इसी तरह जब ऑनलाइन मार्केट मे competition बढ़ जाता है। तो कंपनी अपने समान को कम दाम पर बेच देती है।

E – Commerce के नुकसान

दोस्तो E – Commerce एक ऑनलाइन business है। और इस ऑनलाइन business मे सब चीज तो ठीक हो नहीं सकता तो आपको बता दे की जीतने ज्यादा फायदे होते है किसी चीज से उतने नुकसान भी होते है।

Fraud – E – Commerce सर्विस मे कई बार ऐसा भी होता है। की आप किसी प्रॉडक्ट को देखे और उसे ऑर्डर करे और जब वो आपके घर आता है। तो वो कुछ और निकलता है। इस तरह के farud बहुत बार होते है।

Data चोरी – दोस्तो कई बार ऐसा होता है की आप shoping करने के चक्कर मे किसी गलत वैबसाइट पर चले जाते तो और वह पर अपने product को खरीदते हो। ऑनलाइन payment करके उसके बाद आपके बैंक की डीटेल किसी गलत साथ मे पड़ जाती है। और आपके बैंक से पैसे भी निकाल लिए जाते है।

Future of E – Commerce

दोस्तो E – Commerce का future बहुत बड़ा होने वाला है। क्योकि आज कल हर कोई ऑनलाइन shoping करने लगा है, इसके अलावा अब सबके पास एक साधन है। की वो internet पर जाकर अपने पसंद का समान ले सकता है। तो अगर आप सोच रहे हो ऑनलाइन बिसिनेस्स सुरू करने के बारे मे तो आप सुरू कर सकते है। आपको कुछ ही दिनो मे ये देखने को मिलेगा की आब आपसे कितने लोंग जुड़ गए है। तो देर मत करिए और लग जाइए।

दोस्तो आपको हमारी पोस्ट कैसी लगी आप हमे बताइये गा जरूर और अगर आपका कोई सवाल है E-Commerce Kya Hai को लेकर तो आप हमे कमेंट कर सकते है।

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*